Gharelu Upay - घरेलु उपाय

Gharelu Upay Upchar aur Nuskhe

पत्तेदार सब्जियों के औषधीय उपयोग

पत्तेदार सब्जियों के औषधीय उपयोग

आज हम जानेगे हमारे रोजाना आहार में आने वाली पत्तेदार सब्जियों के बहोत से आयुर्वेदिक और औषधी उपयोग

कुछ पत्तेदार सब्जियों के औषधी उपयोग

  • करी नींबू
    इसका उपयोग पित्त नाशक और कृमिनाशक के रूप में किया जाता है।

  • पालक
    यह मूत्र मार्ग और पाचन तंत्र की सूजन को कम करने के लिए उपयोगी है और दमा और खांसी को कम करता है।

  • मठ
    यह हृदय क्रिया के लिए उपयोगी है और इस सब्जी को खाने से शौचालय साफ हो जाता है।

  • चकवत
    यह पचने में आसान और ज्वरनाशक है। यह एक ऐसी सब्जी है जो त्वचा को चमक प्रदान करती है। यह सब्जी कृमिनाशक है और लीवर की सभी बीमारियों में उपयोगी है।

  • हडगा
    यह एक ऐसी सब्जी है जो खांसी, पित्त और मलेरिया को कम करती है। कहा जाता है कि इस सब्जी के फूल के रस की दो बूंद आंख में डालने से रतौंधी दूर हो जाती है। इस फूल के रस को शहद के साथ लेने से छाती के कफ में आराम मिलता है।

  • सन
    अलसी के रस को काली मिर्च और चीनी के साथ सेवन करने से पित्त हो जाता है।

  • घोल
    यह सब्जी बवासीर को कम करने में उपयोगी है। इसके अलावा इसे खाने से पेशाब साफ और भरपूर होता है।

  • मयालु
    पित्त शरीर पर चढ़ जाए तो इसके पत्तों का रस शरीर पर मलने से पित्त कम हो जाता है। बच्चों को सर्दी-खांसी होने पर एक चम्मच मीठे पत्ते का रस पिलाया जाता है।

  • मेथी
    यह सब्जी आयरन से भरपूर और आहार से भरपूर होती है। इसके बीज वातन करने वाले और स्फूर्तिदायक होते हैं इसलिए इसका उपयोग प्रसव में किया जाता है। इसका उपयोग दूध उत्पादन के लिए भी किया जाता है। मेथी के आटे को मुंह में लगाने से चेहरे की झुर्रियां दूर होती हैं और चेहरा निखरता है।

  • शेपू
    यह एक ऐसी सब्जी है जो पेट फूलने और पेट दर्द को कम करती है।

  • शेवागा
    यह सब्जी वायुकारक और पित्तवर्धक होती है। यह हृदय और संचार क्रिया में सुधार करता है।

  • सलाद
    इस सब्जी में लेसिथिन नामक पदार्थ होता है। यह मस्तिष्क के कामकाज को बेहतर बनाने में मदद करता है। जिन लोगों के दिमाग पर बहुत अधिक दबाव रहता है उन्हें नियमित रूप से सलाद का सेवन करना चाहिए  
पत्तेदार सब्जियों के औषधीय उपयोग
पत्तेदार सब्जियों के औषधीय उपयोग

More Reading

Post navigation

Leave a Reply

error: Content is protected !!