Gharelu Upay - घरेलु उपाय

Gharelu Upay Upchar aur Nuskhe

प्याज के स्वास्त के लिए लाभ

प्याज के लाभ

  • गर्भवती महिला के लिए प्याज खाना बेहतर होता है।
  • भोजन के साथ कच्चा प्याज खाना स्वास्थ्यवर्धक माना जाता है।
  • प्याज के रोजाना सेवन से आंखों की समस्या दूर होती है।
  • लाल प्याज का सेवन अनिद्रा की समस्या को पूरी तरह से खत्म कर देता है।
  • कुत्ते का काटना
    प्याज को बारीक काटकर उसमें शहद मिलाकर कुत्ते के काटने वाले घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है। जैविक संक्रमण से बचाव होता है।
  • साप का काटना
    मिलीलीटर सरसों के तेल में 15 मिलीलीटर प्याज का रस मिलाकर उसमें 2 चम्मच शहद मिलाएं। अगर गांठ से मवाद आ रहा हो या उसमें सूजन आ गई हो तो प्याज को काटकर गांठ पर लगाने से आराम मिलता है।
  • कान में दर्द
    प्याज के रस में नारियल का तेल मिलाकर 2-3 बूंद कान में डालने से कान का दर्द दूर हो जाता है।
  • तापघात
    प्याज के रस का उपयोग हीट स्ट्रोक के लिए किया जाता है। इस रस को माथे, पैरों और हाथों की हथेलियों पर लगाकर 50 मिलीलीटर प्याज का रस और 2 चम्मच शहद मिलाकर लेने से हीट स्ट्रोक की समस्या कम हो जाती है।
  • काले बाल
    बालों को काला रखने के लिए नहाने के पानी में प्याज का रस मिलाकर सिर को धो लें इससे बाल काले हो जाएंगे।
  • अपच की समस्या
    रोजाना प्याज के साथ कच्चा खाएं। यह भोजन के पाचन में मदद करता है और पेट के काम को तेज करता है।यह पेट फूलना और अपच को दूर करता है।
  • एक कड़ाही में एक प्याज भूनें, उसमें थोड़ा सा नमक डालें और पेट फूलने को कम करने के लिए इसे पीएं।
  • खट्टी डकार
    लाल प्याज काट लें। उस पर नींबू का रस मलकर खाने के लिए इस्तेमाल करें, इससे अपच की समस्या दूर हो जाएगी।
  • प्याज के रस की 5-6 बूंदों में शहद मिलाकर बच्चों को पिलाने से उनके पेट के कीड़े नष्ट हो जाते हैं।
  • पेट की गैस
    60 ग्राम सफेद प्याज को काट कर दही के साथ मिलाकर ताजा खाएं। अगर आप 4-5 बार खाते हैं तो आपको एसिडिटी की समस्या नहीं होगी।
  • दस्त और उल्टी
    शिशुओं में दस्त के दौरान होने वाली परेशानी को कम करने के लिए इसे 2-3 बार नाभि पर लगाने की सलाह दी जाती है।
  • पथरी
    प्याज के रस में पिसी चीनी मिलाकर धूप में रख दें, फिर इस मिश्रण को 2 चम्मच सुबह गुनगुने पानी के साथ लें। किडनी स्टोन से पाएं राहत।
  • दमा
    प्याज के रस की एक कैन में रूई भरकर समय-समय पर इसे सूंघते रहने से दमा कम होता है।
  • अगर आप रोजाना प्याज के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर लेंगे तो दमा ठीक हो जाएगा।
  • प्याज के रस में शहद मिलाकर पीने से सर्दी और कफ कम हो जाता है।
  • सिरदर्द
    हीट स्ट्रोक के कारण सिर में दर्द होने पर प्याज का रस लगाकर सिर की त्वचा पर लगाएं। इसे पैरों के तलवों पर लगाने से जल्दी आराम मिलता है।
  • दंत सुरक्षा
    रोजाना प्याज खाने से दांतों का दर्द कम होता है।
  • अगर दांत में दर्द हो रहा हो तो प्याज के पेस्ट को धड़कन पर लगाने से आराम मिलता है।
  • हृदय संबंधी विकार
    रोजाना प्याज खाने से दिल से जुड़ी कई बीमारियां दूर हो जाती हैं। प्याज शरीर में उचित रक्त आपूर्ति बनाए रखने में मदद करता है।
  • चर्म रोगों के लिए फायदेमंद
    विटिलिगो पर प्याज का लेप लगाने से रोग ठीक हो जाता है।
  • प्याज के रस को उबालकर त्वचा पर लगाने से त्वचा के संक्रमण से छुटकारा मिलता है।
  • बहती नाक
    यदि आप प्याज को तोड़कर प्रभावित नाक के सामने जोर से सांस लें तो नाक बहने की समस्या दूर हो जाती है।
  • रक्ताल्पता
    प्याज का रस सीधा या कच्चा प्याज खाने से शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है और खून की मात्रा भी बढ़ती है।
  • उल्टी
    प्याज का रस और अदरक को समान मात्रा में शहद के साथ लेने से उल्टी ठीक हो जाती है।
  • खून की शुद्धता बढ़ाने के लिए 50 ग्राम प्याज के रस में 10 ग्राम चीनी और 1 चम्मच भुना जीरा पाउडर मिलाकर सेवन करने से लाभ होता है।
  • किसी भी उपचार की योजना बनाने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना सुनिश्चित करें क्योंकि उपर्युक्त उपचार किसी भी चिकित्सकीय सलाह पर नहीं दिए गए हैं।
  • अगर प्याज को कच्चा खाया जाए तो इसके फायदे सीधे होते हैं। अगर इसे पकाया या तला जाता है, तो इसके पोषक तत्व बरकरार रहते हैं। प्याज आपके लिए काफी फायदेमंद माना जाता है।  

प्याज के प्रकार

आमतौर पर भारत में प्याज की कई किस्में पाई जाती हैं। इनमें सूखा सफेद प्याज और लाल सूखा प्याज प्रमुख किस्में हैं। प्याज हरा होने पर भी खाने योग्य होता है।

  • सफेद प्याज
    यह प्याज सफेद होता है। यह मुख्य प्रकार का प्याज है। इस किस्म को तेज और तीव्र माना जाता है। इस प्याज को कच्चा खाया जाता है और पकाकर भी खाया जाता है। इस प्याज को कई दिनों तक स्टोर करके रखा जा सकता है।
  • लाल प्याज
    यह बाहर से लाल गुलाबी रंग का होता है। यह सफेद प्याज की तुलना में कम कठोर और ठंडा होता है कच्चे भोजन में इसका अधिक उपयोग किया जाता है। हाँ, हम हर तरह से खा सकते हैं।
  • हरा प्याज
    प्याज के पौधे हैं। जड़ के ऊपर एक प्याज और एक हरा पथ होता है। इसे लोग सर्दियों में खाना ज्यादा पसंद करते हैं। इसे पूरी तरह से गीला प्याज कहा जाता है। लोग इसे खाने के लिए काफी इस्तेमाल करते हैं। इसका उपयोग तले हुए खाद्य पदार्थों में सलाद के रूप में किया जाता है।
प्याज के स्वास्त के लिए लाभ
error: Content is protected !!