Gharelu Upay - घरेलु उपाय

Gharelu Upay Upchar aur Nuskhe

पेन किलर के दुष्प्रभाव

पेन किलर के दुष्प्रभाव – Pain killer side effects

पेन किलर मतलब वेदना नाशक औष।आज का जीवन बहुत तनावपूर्ण है। हर कोई अपने काम में व्यस्त है, इस व्यस्त जीवन शैली के कारण किसी के पास पूरी तरह से आराम करने का समय नहीं है इसलिए उन्हें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है।

कभी-कभी ये दर्द असहनीय हो जाते हैं और समय की कमी के कारण आपको पेन किलर दवाएं लेनी पड़ती हैं ताकि इन्हें आपके अगले काम में इस्तेमाल किया जा सके। लेकिन इन गोलियों को लेने से ये स्थायी रूप से ठीक नहीं होती, यह अस्थायी होती है और बहुत से लोगों को यह नहीं पता होता है कि ये आगे जाकर इन पेन किलर दवाओं के दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं।

इतने सारे लोग पेन किलर क्यों लेते हैं? – Why do so many people take pain killers?

जब हमें दर्द होता है और वह दर्द असहनीय हो जाता है तो उस दर्द से राहत पाने के लिए हम पेन किलर दवाएं लेते हैं। क्योंकि ये गोलियां तुरंत राहत देती हैं और आपको धीरे-धीरे इन गोलियों की आदत हो जाती है, अगर आप लगातार इन गोलियों का सेवन करते हैं, तो आगे जाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

पेन किलर की गोलियों से होने वाले नुकसान – Disadvantages of pain killer pills

  • पेन किलर के ज्यादा इस्तेमाल से आप बूढ़े दिखने लगते हैं।
  • ऐसी गोलियां कभी भी खाली पेट न लें क्योंकि इससे किडनी की समस्या हो सकती है।
  • इसे रोजाना लेने से लीवर की समस्या हो सकती है।
  • ऐसी गोलियां रोज लेने से आपको डर लगता है, अनिद्रा होती है और बेचैनी भी बढ़ जाती है।
  • ज्यादा पेनकिलर लेने से भी ब्लड प्रेशर कम होता है।
  • कुछ खास बातों को ध्यान में रखकर आप पेनकिलर ले सकते हैं

पेन किलर कब खानी चाहिए – When to take pain killer

  • इन गोलियों को खाने के 30 मिनट बाद लें।
  • पेन किलर को कम से कम रखने की कोशिश करें।
  • दर्द समान और असहनीय होने पर डॉक्टर से सलाह लें।
  • पेन किलर दवाओं का सेवन हमेशा पानी के साथ करना चाहिए
  • पेन किलर गोलियां हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही लेनी चाहिए।  
पेन किलर के दुष्प्रभाव
पेन किलर के दुष्प्रभाव
error: Content is protected !!